7 नुस्खे सर्दियों में बच्चों को स्वस्थ रखने के

7 नुस्खे सर्दियों में बच्चों को स्वस्थ रखने के

loading...

7 नुस्खे सर्दियों में बच्चों को स्वस्थ रखने के

  • सर्दियों में लोग शिशु की छाती को कई मोटे ऊनी कपड़ों से ढक देते हैं|
  • वास्तव में, बच्चो को पैर और सिर में अधिक ठण्ड लगती हैं।
  • सर्दियों में बच्चो को रोटा वायरल और दस्त जैसे समस्याएं हो सकती हैं।
  • बच्चों के लिए सुबह में सूरज की रोशनी काफी फायदेमंद है।

सर्दियों के मौसम में, सभी उम्र के लोगों को उचित देखभाल की आवश्यकता होती है, क्योंकि उनका प्रतिरोधी क्षमता कमजोर हो जाती है, इन सर्दियों के महीनों के दौरान बच्चों और बुजुर्गों को कुछ विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है। आज हम सर्दियों के मौसम में बच्चों की देखभाल करने के बारे में बात कर रहे हैं। तो चलो बच्चों को सर्दियों में स्वस्थ रखने के बारे में जानें।

हर माता-पिता अपने बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में बहुत चिंतित रहते है और ऐसा होना लाज़मी भी है। यदि शिशु नवजात है तो यह चिंता और भी हो जाती है। आम तौर पर माता-पिता अपने बच्चे को सर्दियों से बचाते हैं,  और उनकी छाती को दो या तीन मोटी ऊनी कपड़े से ढकते हैं लेकिन बच्चो को पैरों और सिर में ज्यादा ठण्ड लगती हैं। लोग डरते हैं कि बचाहे को छाती में ज्यादा ठण्ड लगती है। जबकि वास्तव में बच्चो को ठंड पैर और सिर में अधिक महसूस करता है।

बच्चे के छाती को ज्यादा देर तक कवर करना हानिकारक है

हमारा शरीर दो प्रकार की कोशिकाओं, पहले भूरा और दूसरे सफेद में बांटा गया है। शरीर का 75 प्रतिशत भूरा हिस्सा छाती और पीठ का होता है। यह हिस्सा कम से कम और अधिकतम अधिकतम तापमान पर हमारे शरीर को संरक्षित करता है। बच्चे के शरीर का निचला भाग तापमान के प्रति अधिक संवेदनशील है। और तापमान में असंतुलन शिशु को बीमार बनाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। दुनिया भर के शिशुओं के लगभग 30 प्रतिशत बच्चो की मौत का कारण निमोनिया,  लूस-मोशन और सांस की बीमारी होता है। और यह यह आंकड़ा हमारे देश भारत में 40 प्रतिशत तक है।

ठंड में बच्चो को बचाए इन समस्याओं हैं

मौसम में अचानक परिवर्तन हर किसी को प्रभावित करेगा और छोटे बच्चे सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे। गले में संक्रमण, जुकाम और सर्दी के अलावा, छोटे बच्चों को एर्ल्जी , रोटा वायरल डायरिया, निमोनिया, अस्थमा, आंखों में संक्रमण और त्वचा में लाल दाने होने का उच्चतम जोखिम होता है।

Click Here To Read: 10 Home Remedies To Get Rid of Alcohol Addiction Just 15 Days

बचाव कैसे करें

सफाई का पूर्ण ख्याल रखें

इस मौसम में छोटे बच्चों को धूल, आग, पटाखे और गंदगी से दूर रखना चाहिए। इससे सांस सम्बन्धी  समस्याओं के साथ दस्त की समस्याएं हो सकती हैं। आपको अपने घर की सफाई को भी ध्यान में रखना चाहिए|

बच्चो को थोड़ा कम नहलाये

हर दिन स्नान करने के बजाय, छोटे बच्चों के गर्म पानी में नरम एंटीबैक्टीरियल तरल डालें और नहलाने के बाद उनके शरीर को मुलायम तौलिए भिगोकर साफ करें। इससे उन्हें ठंड होने की संभावना कम हो जाती है और उसका शरीर भी साफ़ रहता है। वैसे तो मालिश बहुत महत्वपूर्ण नहीं है, लेकिन स्नान करने से पहले गर्म तेल का उपयोग अवश्य करें, यह उपाए सर्दियों में बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए कारगर सिद्ध हुआ है|

गर्म कपड़े अवश्य पहनाये

जैसे ही मौसम बदलता है, बच्चे को गर्म कपड़े पहनना शुरू दे। हल्की ठंडी को अनदेखा न करें और बच्चे को हमेशा मोजे पहनाकर रखे। स्वेटर हमेशा अच्छी गुणवत्ता वाला ही पहनाये, क्योंकि हलकी क्वालिटी की ऊन कभी-कभी बच्चो की त्वचा में एलर्जी पैदा कर सकती है.

सुबह सूरज की रोशनी बच्चो के लिए बहुत अच्छी है

यदि आपके घर में धूप आती है तो बच्चे को गर्म कपडे पह्नाकर उन्हें थोड़ी देर के लिए बाहर बिठा दे, यह उपाए 7 नुस्खे सर्दियों में बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए काफी कारगर है । ऐसा करने से, उन्हें ताजा हवा और विटामिन डी दोनों मिलते हैं। लेकिन ध्यान रखें के केवल सुबह की धुप में, क्योंकि दोपहर की तेज धुप बच्चो के लिए हानिकारक हो सकती है| इसके अलावा, बच्चों को भी ठंडी चीजें खाने पीने की अनुमति बिलकुल न दें। यदि आपका बच्चा 7 महीने से अधिक बड़ा है और वह खाना खाता है तो उसे ठंडे चीजें बिलकुल न खिलाएं और उसे बासी खान भी बिलकुल न दे। आप चाहे तो बच्चो को थोडा बहुत ड्राई फ्रूट भी दे सकते है|

7 नुस्खे सर्दियों में बच्चों को स्वस्थ रखने के

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *