सर्दी और जुकाम के 8 प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार

सर्दी और जुकाम के 8 प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार

loading...

सर्दी और जुकाम के 8 प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार

  1. सर्दी और जुकाम को ठीक करने के लिए सबसे पहले रोगी व्यक्ति को हल्की धूप में टहलना चाहिए जी से रोगी के शरीर से पसीना बाहर निकलेगा। फिर इसके बाद रोगी व्यक्ति को स्पंज से स्नान करते हुए शरीर को गर्म पानी से साफ़ करना चाहिए। ऐसा करने से रोग को बहुत लाभ होता है।
  1. जो भी रोगी व्यक्ति अधिक कमजोर महसूस करता है उसे टहलना नहीं चाहिए बल्कि उस व्यक्ति को बिस्तर पर लेटकर जितना हो सके ज्यादा से ज्यादा आराम करना चाहिए और हर आधे-आधे घण्टे के बाद एक-एक गिलास गर्म पानी में नींबूरस डालकर या फिर गर्म पानी ही पीना चाहिए। ऐसा करने से रोगी की नाक खुलकर बहने लगती है और ऐसे करने से शरीर में सर्दी का जोर काफी कम हो जाता है।
  1. ऐसे रोग को दवाइयों खाने से दबाना नहीं चाहिए क्योंकि बीमारी दबाने से और कई अन्य प्रकार के रोग उभर कर आ सकते हैं।

Click here to read:-  10 Early Symptoms Which Gives Direct Signs of Alzheimer

  1. कभी-कभी हमें सर्दी-जुकाम होने के कारण गले में भी खराश हो जाती है ओसे ऐसे में इस रोग को ठीक करने के लिए हमेशा गुनगुने पानी में थोड़ा-सा कागजी नींबू का रस और हल्का-सा नमक मिलाकर दिन में दो या तीन बार गरारे अवश्य करे तथा अपनी गर्दन पर गर्म सिकाई करके गर्दन पर भीगे कपड़े की पट्टी से 1 या 2 घण्टे में आवश्यकतानुसार बांधने से यह रोग आसानी से ठीक हो जाता है।
  1. इस रोग में व्यक्ति को अपने पैरों को गरम पानी में डुबोकर रखना चाहिए, ऐसा करने से नाक में जलन तथा बंद नाक ठीक हो जाता है।
  1. सर्दी-जुकाम से पीड़ित रोगी के सीने में कई बार कफ जमा होने के कारण सीने में दर्द की तकलीफ भी होने लगती है। ऐसे में रोग को एकदम से ठीक करने के लिए गर्म पानी में पूरी तरह अच्छे से भीगे हुए तौलिये से दो दिनों तक रोगी को अपने सीने पर सिकाई करनी चाहिए तथा इसके बाद रोगी को अपने सीने पर गीली पट्टी लगानी चाहिए या फिर रात में कड़वे तेल में थोड़ा सा कपूर डालकर और उसे गर्म करके अपने सीने पर अच्छे से मलकर ऊपर से मोटा कपड़ा बांधना चाहिए जिसके परिणाम स्वरूप रोगी के सीने में दर्द जो सर्दी-जुकाम के कारण हुआ होता है वह बिलकुल ठीक हो जाता है।
  1. रोगी व्यक्ति को ज्यादा नहीं तो दिन में दो बार तथा रात में गर्म कपड़े से अपने पूरे शरीर की सिकाई करनी चाहिए। जिसके फलस्वरूप इस रोग में रोगी को काफी रहत मिलती है और रोगी जल्दी ठीक भी हो जाता है।
  1. सर्दी और जुकाम से पीड़ित रोगी को अपने सीने और चेहरे की भी गर्म सिकाई करनी चाहिए और इसके साथ-साथ गर्दन की भी सिकाई करनी चाहिए। रोगी व्यक्ति को हो सके तो अपने पैरों को गर्म पानी में कुछ समय के लिए डुबो कर रखना चाहिए जब तक की अच्छे से पसीना न आने लगे। ऐसा करने से सर्दी का रोग आसानी से ठीक हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *